UP Board Class 10 Hindi Model Paper 2021

UP Board Class 10 Hindi Model Paper 2021

UP Board Class 10 Hindi Model Paper 2021

UP Board Class 10 Hindi Model Paper 2021

अनुक्रमांक……………..
नाम……………………..

2021
हिंदी मॉडल पेपर

समय: 3 घंटे 15 मिनट पूर्णांक : 70

नोट : प्रारंभ के 15 मिनट परीक्षार्थियो को प्रश्न पढ़ने के लिए निर्धारित है।

1. (क) निम्नलिखित में से कोई एक कथन सत्य है, उसे पहचानकर लिखिए : 1

(i) जयशंकर प्रसाद प्रसिद्ध समालोचक हैं।
(ii) डा० राजेन्द्र प्रसाद उपन्यासकार हैं।
(iii) रामचन्द्र शुक्ल प्रसिद्ध निबंधकार हैं।
(iv) डा० भगवतशरण उपाध्याय कवि के रूप में विख्यात हैं।

(ख) निम्नलिखित कृतियों में से किसी एक के लेखक का नाम लिखिए : 1

(¡) हिमालय की पुकार (¡¡) गेहूं और गुलाब
(¡¡¡) मेरी असफलताएं (¡v) अर्धनारीश्वर

(ग) ‘त्याग-पत्र’ के रचनाकार का नाम लिखिए। 1

(घ) ‘मर्यादा’ पत्रिका के संपादक का नाम लिखिए। 1

(ड़) ‘कलम का सिपाही’ किस साहित्यकार की जीवनी हैं ? 1

2. (क) ‘छायावाद’ की दो विशेषताएं लिखिए। 2

(ख) ‌ ‘रीतिकाल’ की दो प्रमुख विशेषताएं बताइए। ‌‌ 2

(ग) किसी एक प्रगतिवादी कवि का नाम लिखिए। 2

3. निम्नलिखित गद्यांशो में से किसी एक के नीचे दिए गए प्रश्नों के उत्तर  दीजिए : 2 + 2 + 2 = 6

(क) ‌ यह कोई बात नहीं है कि एक ही स्वाभाव और रुचि के लोगों में ही मित्रता हो सकती है। समाज में विभिन्नता देखकर लोग एक दूसरे की ओर आकर्षित होते हैं। जो गुण हम में नहीं है, हम चाहते हैं कि कोई ऐसा मित्र मिले जिसमें वे गुण हो। चिंताशील मनुष्य प्रफुल्लित चित्त का साथ ढूंढता है, निर्बल बली का, धीर उत्साही का। उच्च आकांक्षा वाला चंद्रगुप्त युक्ति और उपाय के लिए चाणक्य का मुंह ताकता था। नीति विशारद अकबर मन बहलाने के लिए बीरबल की ओर देखता था।

‌ (i) उपयुक्त गद्यांश का संदर्भ लिखिए।
(ii) ‌ गद्यांश के रेखांकित अंश की व्याख्या कीजिए।
(iii) लेखक के अनुसार समाज में विभिन्नता देखकर लोग एक दूसरे की ओर क्यों आकर्षित होते हैं?

(ख) दूसरी बात जो इस संबंध में विचारणीय है, वह यह है कि संस्कृति अथवा सामूहिक चेतना ही हमारे देश का प्राण है। इसी नैतिक चेतना के सूत्र से हमारे नगर और ग्राम, हमारे प्रदेश और संप्रदाय, हमारे विभिन्न वर्ग और जातियां आपस में बधी हुई है, वहा उन सब ने एकता है। इसी बात को ठीक तरह से पहचान लेने से बापू ने जनसाधारण की बुद्धिजीवियों के नेतृत्व में क्रांति करने के लिए इसी नैतिक चेतना का सहारा लिया था। अहिंसा, सेवा और त्याग की बातों से जनसाधारण का ह्रदय इसलिए आंदोलित हो उठा, क्योंकि उन्हीं से तो वह शताब्दियों से प्रभावित और प्रेरित रहा।

(i) उपयुक्त गद्यांश का संदर्भ लिखिए।
(ii) रेखांकित अंश की व्याख्या कीजिए।
(iii) जनसाधारण का ह्रदय किन बातों से आंदोलित हो उठा?

4. निम्नलिखित पद्यांशो में से किसी एक की संदर्भ सहित व्याख्या कीजिए : 1 + 4 + 1 = 6

(क) यहीं कहीं पर बिखर गयी वह,
भग्न विजय-माला-सी।
उसके फूल यहां संचित हैं,
है यह स्मृति-शाला-सी ।।
सहे वार पर वार अंत तक,
लड़ी बीर बाला-सी ।
आहुति-सी गिर चढ़ी चिता पर,
चमक उठी ज्वाला-सी।।
(ख) ‌ ऊधो मोहिं ब्रज बिसरत नाहीं ।
वृंदावन गोकुल बन उपवन, सघन कुंज की छांहीं ।।
प्रात समय माता जसुमति अरु नंद देखि सुख पावत ।
‌ माखन रोटी दह्यौ सजायौ, अति हित साथ खवावत ।।
गोपी ग्वाल बाल संग खेलत, सब दिन हंसत सिरात ।
‌ सूरदास धनि-धनि ब्रजवासी, जिनसौ हित जदु-तात ।।

Our Mobile App for Board Exam Preparation – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.knowledgebeem.online

5. (क) निम्नलिखित में से किसी एक लेखक का जीवन परिचय देते हुए उनकी किसी एक रचना का नाम लिखिए : 2 +1= 3
(¡) आचार्य रामचंद्र शुक्ल
‌‌(¡¡) जयशंकर प्रसाद
‌ (¡¡¡) ‌‌ रामधारी सिंह ‘दिनकर’

(ख) निम्नलिखित कवियों में से किसी एक कवि का जीवन परिचय दीजिए तथा उनकी एक रचना का नाम लिखिए : ‌ 2+1=3
(¡) ‌ महादेवी वर्मा
(¡¡) ‌ सूरदास
(¡¡¡) ‌ सुमित्रानंदन पंत

6. निम्नलिखित का ससंदर्भ हिंदी में अनुवाद कीजिए : 1 + 3=4
इयं नगरी विविधधर्माणां संगडमस्थली । महात्मा बुध्द:, तीर्थंकर: पार्श्वनाथ:, शंकराचार्य:, कबीर:, गोस्वामी तुलसीदास:, अन्ये च बहव: महात्मान: अत्रागत्य स्वीयान् प्रासारयन्। न केवलं दर्शने, साहित्ये, धर्मे, अपितु कलाक्षेत्रेअपी इयं नगरी विविधानां कलानां, शिल्पानाञ्च कृते लोके विश्रुता। अत्रत्या: कौशेयशाटिका: देशे देशे सर्वत्र स्पृह्यन्ते।

अथवा
मरणं मङ्गल यत्र विभूतिश्च विभूषणम्भु
कौपिन यत्र कौशेयं सा काशी केन मीयते।।

7. (क) अपनी पाठ्य पुस्तक में से कंठस्थ किया हुआ कोई एक श्लोक लिखिए जो इस प्रश्न पत्र में न आया हो। 2

(ख) निम्नलिखित में से किन्ही दो प्रश्नों के उत्तर संस्कृत में दीजिए : 1 + 1 = 2
‌‌ (¡) वीर: केन पूज्यते?
‌ (¡¡) पदेन विना किं दूरं जाति ?
‌‌ (¡¡¡) चंद्रशेखर: क: आसीत् ?
(¡v) ‌ गीताया: क: संदेश: ?

8. (क) ‘हास्य’ अथवा ‘करुण’ रस की परिभाषा एवं उदाहरण लिखिए। 2
(ख) ‘रूपक’ अथवा ‘उपमा’ अलंकार की परिभाषा एवं उदाहरण लिखिए। 2
(ग) ‌ ‘सोरठा’ अथवा ‘रोला’ छंद का लक्षण लिखकर उसका उदाहरण दीजिए। 2

9. (क) निम्नलिखित उपसर्गो में से किन्हीं तीन के मेल से एक-एक शब्द बनाइए :
(¡) आ ‌‌ (¡¡) निर् (¡¡¡) अनु
‌ (iv) अभि (v) ‌‌ अन (v¡) ‌ हट

(ख) निम्नलिखित प्रश्नों में से किन्ही दो प्रत्ययो का प्रयोग करके एक-एक शब्द बनाइए : 1 + 1 = 2
(¡) ‌ आहट (¡¡) वट ‌‌ (¡¡¡) ता
(¡v) पन (v) ‌ आई

(ग) निम्नलिखित में से किन्हीं दो के समास विग्रह कीजिए : 1+1=2
(¡) श्वेत कमल (¡¡) पवनपुत्र (¡¡¡) गंगाधर
(¡v) पापा–पुण्य ‌ (v) चक्रपाणि

(घ) निम्नलिखित में से किन्हीं दो शब्दों के तत्सम रूप लिखिए : 1+1=2
(¡) दही (¡¡) ‌ आग (¡¡¡) आंसू (¡v) ‌ सूरज

(ड़) निम्नलिखित में से किन्हीं दो शब्दों के दो-दो पर्यायवाची शब्द लिखिए : ‌ 1+1=2
(¡) ‌ गंगा (¡¡) ‌ सूर्य (¡¡¡) बादल (¡¡) जल

10. निम्नलिखित में से किन्हीं दो में संधि कीजिए और संधि का नाम लिखिए : 1+1=2
(¡) सु + आगतम् (¡¡) प्रति + एकम्
(¡i¡) वन + औषधि: (¡v) महा + ओज

(ख) निम्नलिखित शब्दों के रूप पंचमी विभक्ति एकवचन में लिखिए : 1+1=2
(¡) ‌ मति अथवा फल (¡¡) ‌ युष्मद् अथवा तद्
‌ (ग) ‌ निम्नलिखित में से किसी एक धातु, लकार, पुरुष तथा वचन का उल्लेख कीजिए : 1+1=2
(¡) अपठिताम् (¡¡) पठाव: (¡¡¡) पश्यामी
(घ) निम्नलिखित में से किन्हीं दो वाक्यों का संस्कृत में अनुवाद कीजिए : 1+1=2
(¡) तुम पुस्तक पढ़ो।
(¡¡) पेड़ से पत्ते गिरते हैं।
(¡¡¡) हमें विद्यालय जाना चाहिए।
(¡v) शिष्य ने गुरु से प्रश्न पूछा।

11.निम्नलिखित में से किसी एक पर निबंध लिखिए : 6
(¡) स्वास्थ्य शिक्षा और लाभ।
(¡¡) विद्यार्थी और अनुशासन।
(¡¡¡) प्रदूषण की समस्या और समाधान।
(iv) ‌‌ बेरोजगारी की समस्या और उसका समाधान।

12. अपनी पठित खंडकाव्य के आधार पर निम्नलिखित प्रश्नों में से किसी एक प्रश्न का उत्तर लिखिए। 3

‌ (क) (¡) ‘कर्मवीर भरत’ खंडकाव्य के आधार पर भरत के
‌‌ चरित्र-चित्रण की विशेषताओं का उल्लेख कीजिए।

(¡¡) ‘कर्मवीर भरत’ के खंडकाव्य का कथासार लिखिए।

(ख) (¡) ‘अग्रपूजा’ खंडकाव्य की कथावस्तु संक्षेप में लिखिए।
‌‌ (¡¡) ‘अग्रपूजा’ खंडकाव्य के प्रधान पात्र का चरित्रांकन कीजिए।

(ग) (¡) ‘तुमुल’ खंडकाव्य के ‘मेघनाद-प्रतिज्ञा’ सर्ग की कथा अपने शब्दों में लिखिए।
(¡¡) ‌ ‘तुमुल’ खंडकाव्य के आधार पर नायक का चरित्र-चित्रण कीजिए।

(घ) (¡) ‌ ‘मेवाड़ मुकुट’ खंडकाव्य के तृतीय सर्ग की कथावस्तु लिखिए।

(¡¡) ‘मेवाड़ मुकुट’ खंडकाव्य के नायक का चरित्र-चित्रण कीजिए।

(ड़) (¡) ‘ज्योति जवाहर’ खंडकाव्य के नायक की चारित्रिक विशेषताओं का उल्लेख कीजिए।
(¡¡) ‌ ‘ज्योति जवाहर’ खंडकाव्य की कथावस्तु संक्षेप में प्रस्तुत कीजिए।

(च) (¡) ‘कर्ण’ खंडकाव्य के षष्ठ सर्ग की कथावस्तु अपने शब्दों मेंलिखिए।
(¡¡) ‘कर्ण’ खंडकाव्य के नायक का चित्रांकन कीजिए।

(छ)‌ (¡) ‘मातृभूमि के लिए’ खंडकाव्य के प्रथम सर्ग का सारांश लिखिए।
(¡¡) ‘मातृभूमि के लिए’ खंडकाव्य के प्रधान पात्र के चरित्र की विशेषताओं का उल्लेख कीजिए।

(ज)‌ (¡) ‘मुक्ति-दूत’ खंडकाव्य के प्रथम सर्ग का सारांश लिखिए।
(¡¡) ‘मुक्ति-दूत’ खंडकाव्य के आधार पर गांधी जी का चरित्र कीजिए।

(झ)‌ (¡) ‘जय सुभाष’ खंडकाव्य के द्वितीय सर्ग का सारांश लिखिए।
(¡¡) ‘जय सुभाष’ खंडकाव्य के प्रमुख पात्र की चारित्रिक विशेषताएं लिखिए ।

Our YouTube Channel for Board Exam Preparation – https://www.youtube.com/c/Knowledgebeem
Our Mobile App for Board Exam Preparation – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.knowledgebeem.online
For more post visit our website – https://www.knowledgebeem.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *